Well being Information: तिल के सेवन से कम होता कोलेस्ट्रॉल, और भी हैं कई फायदे


Well being advantages of sesame: तिल के बीज देखने में बेशक छोटा लगे लेकिन यह बेहद काम की चीज है. तिल में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हेल्थ के बहुत लाभदायक है. बिना छिलके वाले बीज में भूसी बरकरार होती है, जबकि छिलके वाले बीज बिना भूसी के आते हैं. तिल सफेद भी होते हैं और काले भी. हालांकि दोनों तरह के तिल सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हैं. तिल में बहुत ज्यादा फाइबर भी पाया जाता है जो पाचन तंत्र के लिए बहुत फायदेमंद है.

हेल्थलाइन की खबर के मुताबिक तिल हाई कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में बहुत मददगार साबित होता है. इसमें 15 प्रतिशत सैचुरेटेड फैट, 41 प्रतिशत पॉलीअनसैचुरेटेड फैट और 39 प्रतिशत मोनोअनसैचुरेटेड फैट पाया जाता है.

इसे भी पढ़ेंः सर्दी में क्यों बढ़ते हैं हार्ट अटैक के मामले, डॉ नित्यानंद त्रिपाठी से जानें असली वजह और बचाव का तरीका

तिल के फायदे

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है
रिसर्च में पाया गया है कि पॉलीअनसैचुरेटेड फैट और मोनोअनसैचुरेटेड फैट कोलेस्ट्रोल को बहुत कम कर देता है. इससे हार्ट डिजीज का जोखिम बहुत कम हो जाता है. अध्ययन में पाया गया कि दो महीने तक 40 ग्राम तिल का रोजाना सेवन करने से बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बहुत कम हो गया.

इसे भी पढ़ेंः Well being Information: इलाइची के पांच ऐसे फायदे जिसका विज्ञान भी मानता है लोहा

कैंसर से लड़ने में मददगार
रिपोर्ट के मुताबिक तिल में एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है जो कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है. खास तौर पर यह लंग कैंसर, पेट का कैंसर, ल्यूकेमिया आदि में कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने में फायदेमंद है.

हड्डियों को स्ट्रॉन्ग बनाते हैं
तिल में कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैंग्नीज और जिंक प्रचूर मात्रा में पाया जाता है जो बोन को मजबूत करने में सहायक है. तिल में डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड मौजूद होता है. इससे मांसपेशियां मजबूत होती है.

सूजन कम करता है
तिल एंटी-इंफ्लामेटरी होता है. यानी तिल में सूजन कम करने की क्षमता होती है. लंबे समय तक कोशिकाओं के अंदर सूजन मोटापा और कैंसर के जोखिम को बढ़ाती है. इस कारण शरीर की कोशिकाओं को सूजन के खतरे से बचाने में तिल की महत्वपूर्ण भूमिका होती है.

स्किन के लिए फायदेमंद
तिल स्किन के लिए भी बहुत फायदेमंद है. यह स्किन के लिए जरूरी पोषण प्रदान करता है. तिल कुदरती रूप से स्कैल्प के नीचे से तेल को बनाने में मदद करता है जिससे बाल हेल्दी और शाइनी बने रहते हैं. इससे स्किन की झुर्रिया खत्म होती है.

तनाव कम करता है
तिल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स तनाव करने में भी मददगार है. तिल तनाव और डिप्रेशन को कम करने में सहायक होते हैं.

Tags: Well being, Life-style





Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *