गोभी, गाजर और लहसुन को पका कर खाना फायदेमंद रहेगा या कच्चा, जानिए क्या रहेगा बेहतर


Uncooked or Cooked carrots, cabbage and garlic? हम अपनी डाइट में कई चीजों को शामिल करते हैं. कुछ चीजों को पकाकर (Cooked ) खाते हैं, जबकि कुछ चीजों को कच्चा (Uncooked) ही खा लेते हैं. प्याज, गाजर, टमाटर, लहसुन आदि को कच्चा भी खा लेते हैं और पका कर भी खा लेते हैं जबकि आलू, गोभी, पालक इत्यादि को पकाकर ही खाना पसंद करते हैं. लेकिन कई चीजों के बारे में हमारे मन में कंफ्यूजन रहती है. इन चीजों पर लोगों की राय भी अलग-अलग बंटी रहती है. कुछ लोग कहते हैं कि कच्ची गाजर बहुत फायदेमंद है जबकि कुछ लोगों का मानना रहता है कि गाजर को पकाकर खानी चाहिए. ऐसे में कंफ्यूजन और भी बढ़ जाती है. इस स्थिति में सच्चाई क्या है, यह जानना महत्वपूर्ण है. हम यहां आपको गाजर, गोभी और लहसुन के बारे में सटीक जानकारी देंगे कि इन्हें कच्चा खाना चाहिए या पकाकर कर.

इसे भी पढ़ेंः सर्दी में क्यों बढ़ते हैं हार्ट अटैक के मामले, डॉ नित्यानंद त्रिपाठी से जानें असली वजह और बचाव का तरीका

लहसुन (garlic)

वेबएमडी की खबर के मुताबिक लहसुन औषधीय गुणों से से भरपूर प्लांट है. इसकी कली को खाया जाता है. लहसुन में सेलेनियम (selenium) और एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidant ) तत्व पाए जाते हैं जो कई बीमारियों से बचाते हैं. यह ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है और कुछ कैंसर से भी रक्षा करता है. रिपोर्ट के मुताबिक लहसुन को कई चीजों में मिलाकर खाना फायदेमंद है लेकिन कच्चे लहसुन में पोषक तत्व ज्यादा पाए जाते हैं. इसलिए कच्चे लहसुन से ज्यादा फायदा है. आप सब्जी जब बना लें, तब इसमें डालकर इसे खा सकते हैं या सब्जी तैयार होने से कुछ पहले लहसुन को सब्जी में मिक्स कर सकते हैं.

गाजर (carrots)

गाजर सर्दी की पसंदीदा सब्जी है. इसमें कैरेटेनॉएड्स (carotenoids) पाया जाता है जो आंखों की रक्षा करता है. लाइकोपिन (lycopene) की तरह कैरेटेनोएड्स थोड़ा पककर ही शरीर के लिए आसान होता है. हालांकि इसे ज्यादा नहीं पकाना चाहिए. ताजी गाजर को बहुत हल्का ही पकाना चाहिए. इसके अलावा हल्का स्टीम कर भी गाजर को खा सकते हैं. हल्का पका देने से कैरेटेनोएड्स शरीर में अच्छे से पच जाता है.

इसे भी पढ़ेंः Well being information: सर्दी में ज्यादा भूख लग रही है तो इस तरह इसे करें कंट्रोल, वजन भी नियंत्रण में रहेगा

गोभी (Broccoli)

गोभी को कुछ लोग पकाकर भी खाते हैं जबकि कुछ लोग सूप बनाकर पीते हैं. अगर आपको कच्ची गोभी में कोई स्वाद न आए तो इसे हल्का सा स्टीम कर लें. इससे यह सॉफ्ट हो जाएगा और खाने में स्वाद भी आएगा. गोभी को ब्यॉल या फ्राई करने के बजाय इसे स्टीम करें. इससे गोभी में मौजूद पोषक तत्व नष्ट नहीं होंगे.

Tags: Meals, Well being, Life-style





Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *